मूसेवाला हत्याकांड के मुख्य आरोपी गोल्डी बराड़ की अमेरिका में हत्या
BREAKING पंजाब मुख्य ख़बर राष्ट्रीय

मूसेवाला हत्याकांड के मुख्य आरोपी गोल्डी बराड़ की अमेरिका में हत्या

May 1, 2024
305 Views

पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या का मुख्य आरोपी गोल्डी बराड़ आज अमेरिका में छिड़ी आ रही गैंगवार में मारा गया। हत्या की जिम्मेदारी आतंकी गैंगस्टर अर्शदीप सिंह डल्ला और लखबीर सिंह ने ली है। इस मामले की एफबीआई जांच कर रही है। एफबीआई ने पवितर सिंह और हुस्न दीप सिंह को पकड़ भी लिया है। भारत सरकार ने कनाडा में छिपे गोल्डी बराड़ को आतंकी घोषित किया हुआ है।

अमेरिकी न्यूज चैनल के अनुसार अमेरिका के फेयरमोंट और होल्ट एवेन्यू में मंगलवार शाम को बराड़ की गोलियां बरसाते हुए हत्या कर दी गई।  बराड़ लॉरेंस बिश्नोई गिरोह को चला रहा था। पहले वह कनाडा में था, लेकिन मूसेवाला के कत्ल के बाद वह अमेरिका शिफ्ट हो गया था। गोल्डी बराड़ पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब जिले का रहने वाला था। उसका जन्म 1994 में हुआ था। उसका नाम सतविंदर सिंह था। पिता पंजाब पुलिस में सब इंस्पेक्टर थे। गोल्डी बराड़ के चचेरे भाई अकाली नेता गुरलाल बराड़ की चंडीगढ़ में अक्टूबर 2020 में एक क्लब के बाहर गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।

दरअसल, वह पंजाब विश्वविद्यालय का छात्र था। गुरलाल बराड़ लॉरेंस बिश्नोई का करीबी था। दोनों स्टूडेंट आर्गेनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी से जुड़े रहे। गुरलाल की हत्या के बाद लॉरेंस गिरोहने इंटरनेट मीडिया पर लिखा था अब नई जंग की शुरुआत सड़कों पर खून बहेगा। इस हत्या का बदला लेने के लिए गोल्डी बराड़ ने अपराध का रास्ता चुना और लॉरेंस से हाथ मिला लिया।

बता दें कि 2021 में आठ फरवरी  को गोल्डी ने अपने भाई गुरलाल की हत्या का बदला लेने के लिए फरीदकोट के जिला यूथ कांग्रेस अध्यक्ष गुरलाल सिंह पहलवान को मौत के घाट उतार दिया था। इसके बाद गोल्डी स्टूडेंट वीजा पर कनाडा भाग गया। गोल्डी के खिलाफ दो बार रेड कार्नर नोटिस जारी हो चुका है। वह विदेश में रूप बदल कर रह रहा था। मोहाली में यूथ अकाली नेता विक्की मिड्डूखेड़ा की हत्या 2021 में हत्या हो गई। इसमें सिद्धू मूसेवाला का नाम सामने आया था। मिड्डूखेड़ा लारेंस और गोल्डी का दोस्त था। पुलिस के मुताबिक मिड्डूखेड़ा की हत्या का बदला लेने के लिए बराड़ ने विदेश में बैठकर सिद्धू मूसेवाला के कत्ल की साजिश रची। बराड़ को भारत लाने के लिए पंजाब पुलिस और केंद्रीय एजेंसियां लगातार प्रयास कर रही थीं।

follow us on 👇

फेसबुक –https://www.facebook.com/groups/480505783445020
ट्विटर –https://twitter.com/firstbytetv_
चैनल सब्सक्राइब करें –https://youtube.com/@firstbytetv
वेबसाइट –https://firstbytetv.com/
इंस्टाग्राम – https://www.instagram.com/firstbytetv/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *