बृजभूषण ने उसकी टीशर्ट ऊपर की और हाथ रख दिया-पीड़ित पहलवान
BREAKING खास खबर दिल्ली-एनसीआर

बृजभूषण ने उसकी टीशर्ट ऊपर की और हाथ रख दिया-पीड़ित पहलवान

Jun 2, 2023
42 Views
  • पहलवानों की रिपोर्ट से सामने आया कड़वा सच
  • रिपोर्ट में लिखाये गये हैं बेहद गंभीर आरोप
  • सांस रोकने की बात कहते हुए छाती पर रखने का आरोप
  • भाजपा नेतृत्व ने जुबान पर नियंत्रण की ताकीद दी 
  • बृजभूषण ने 11 लाख समर्थक जुटने का किया था दावा
  • बृजभूषण ने अब अयोध्या की रैली को किया रद्द

महिला पहलवानों द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर के सामने आने के बाद हर कोई स्तब्ध है। परेशान हैं और सवाल खड़ा कर रहा है कि अब इससे ज्यादा क्यां सबूत चाहियें पुलिस को इन महिला पहलवानों से। रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर रिपोर्ट में यहां तक आरोप लगाये गये हैं कि सांस रोकने की बात कह कर वह महिला पहलवानोंं की टी शर्ट उपर कर छाती पर हाथ रख देता था। पहलवानों के दर्द को देखते हुए अब 1983 की क्रिकेट विश्व विजेता टीम ने भी आहत होकर  कहा है कि जिस तरह पहलवानों के साथ दुर्व्यहार किया गया है, देख कर वे भी बेहद आहत हैं।

चौतरफा बढ़ते दबाव के बाद भाजपा नेतृत्व ने बृजभूशण शरण सिंह से अपनी जुबान पर कंट्रोल रखने के लिये कहा है। शक्ति प्रदर्शन के अंदाज में पांच जून को अयोध्या में आयोजित जन चेतना रैली को बृजभूषण शरण सिंह ने रद्द कर दिया है। माना जा रहा है कि भाजपा नेतृत्व के कड़े रूख के बाद ही यह रैली भी रद्द की गई है। बृजभूषण की तरफ से दावा किया गया था कि इस रैली में ग्यारह लाख लोग आकर उनका समर्थन करेंगे।

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ दो रिपोर्ट दर्ज की गई हैं। पहली FIR बालिग पहलवानों के आरोपों से जुड़ी है और दूसरी नाबालिग रेसलर्स के आरोपों पर आधारित है। दोनों ही यौन शोषण के आरोपों से जुड़ी हैं। नाबालिग पहलवान के पिता ने कहा है कि उनकी बेटी ने एशियन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने के बाद 16 साल की उम्र में झारखंड के रांची में नेशनल गेम्स में जूनियर रेसलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड जीता था। यहीं उसके साथ फोटो लेने के लिए बृजभूषण ने जबरन उसे अपने पास खींचा। उसे बाहों में इतना कसकर जकड़ा कि वह खुद को छुड़ा तक नहीं पायी। इसके बाद वह हाथ कंधे के नीचे ले गया। यह भी आरोप है कि  बृजभूषण ने नाबालिग पहलवान से कहा कि तुम उसे सपोर्ट करो और वह उसे सपोर्ट करेगा।

बृजभूषण एशियन चैंपियनशिप के ट्रायल से पूर्व उसे यह कहते हुए रूम में बुलाया कि यदि  कोऑपरेट नहीं किया तो खामियाजा ट्रायल्य में भुगतना पड़ेगा। उसका करियर बृजभूषण बर्बाद न कर दे इसलिए वह मिलने चली गई। वहां, बृजभूषण उससे जबरदस्ती शारीरिक संबध बनाने की कोशिश की। यहां से वह किसी तरह बाहर निकली, इसका खामियाजा 2022 मई माह में हुए एशियन चैंपियनशिप ट्रायल के दौरान उसे भेदभाव के रूप में उठाना पड़ा। ट्रायल के दौरान एथलीट के स्टेट से ही रेफरी और मैट चेयरमैन, दोनों नहीं हो सकते। ट्रायल के दौरान उसे दिल्ली के पहलवान से लड़ाया गया। जिसमें रेफरी और मैट चेयरमैन दोनों दिल्ली से थे। जो नियमों का उल्लंघन था। विरोध करने पर इसका जवाब यह दिया गया कि उसे खेलना होगा, अन्यथा मुकाबले के दूसरे एथलीट को वॉकओवर यानी विजेता घोषित कर दिया जाएगा। नाबालिग पहलवान के मैच के वक्त रिकॉर्डिंग को स्विच ऑफ और ऑन किया जाता रहा ताकि वीडियो में गड़बड़ी कर सकें।

पिता का आरोप है कि यह सब बृजभूषण के कहने पर किया गया क्योंकि उसने यौन इच्छा पूरी करने से इनकार कर दिया था। पुलिस रिपोर्ट में महिला पहलवान ने आरोप लगाया है कि अगस्त 2022 में बुल्गारिया में वर्ल्ड जूनियर रेसलिंग चैंपियनशिप के दौरान पहली बार बृजभूषण ने सेक्सुअली हैरेस किया। ट्रेनिंग के दौरान बृजभूषण ने अकेले बुलाया। टी-शर्ट ऊपर उठाई फिर सांस चेक करने के बहाने छूने लगा। बृजभूषण होटल में उसी फ्लोर पर कमरा लेते थे, जहां पहलवान ठहरते थे। 2022 में एक कंपीटिशन में उसे चोट लग गई। जापान से इंडिया लौटने पर उसे फेडरेशन फिस बुलाया गया। जहां बृजभूषण ने इलाज के बदले सेक्सुअल फेवर मांगा।

आरोप है कि “बिसकेक में चैंपियनशिप के दौरान वह ग्राउंड के मैट पर स्ट्रेचिंग-वार्मअप कर रही थी। जब वह मैट पर लेटी हुई थी, अचानक बृजभूषण आये और बिना इजाजत के उसकी टी-शर्ट ऊपर खींच दी और छाती पर हाथ रख दिया। फिर सांस लेने की जांच करने का बहाना बनाया। बृजभूषण उसका करियर बर्बाद न कर दें, इस वजह से वह कुछ नहीं बोल सकी। 2019 में वह फेडरेशन ऑफिस दिल्ली गई। वहां नेशनल कैंप की क्वेरी के लिए सेक्रेटरी विनोद तोमर उसके साथ जबरदस्ती करने की कोशिश की।

महिला पहलवान ने पुलिस को  जानकारी दी कि कर्नाटक में मेडल सेरेमनी के दौरान फिर ऐसा हुआ। उसने विरोध किया तो  बृजभूषण ने कहा कि ज्यादा स्मार्ट बन रही हो क्या, आगे कोई कंपीटिशन नहीं खेलने हैं क्या तुम्हें।” आरोप है कि नवंबर 2022 में बृजभूषण ने सेक्सुअल फेवर के बदले मुझे सप्लीमेंट दिलाने की बात कही।”

उधर, 1983 वर्ल्ड कप जीतने वाली क्रिकेट टीम ने किया रेसलर्स का समर्थन कर दिया है। कपिल देव की अगुवाई वाली टीम में शामिल सुनील गावस्कर, रोजर बिन्नी, दिलीप वेंगसरकर और मदनलाल समेत कई खिलाड़ियों ने संयुक्त ब्यान में कहा है कि वे पहलवानों से हो रही बदतमीजी से व्यथित हैं। उन्हें चिंता है कि वे अपनी मेहनत की कमाई को गंगा नदी में बहाने की सोच रहे हैं। वे मेडल न केवल उनके अपने हैं बल्कि देश का भी गौरव है। उन्होंने आग्रह किया है कि पहलवान जल्दबाजी में कोई फैसला न लें। उन्होंने यह उम्मीद भी जताई है कि पहलवानों की शिकायतों का जल्द समाधान किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *