आस्ट्रेलिया में महंगी जमीन खरीद रखी हैं भ्रष्ट संजीव बालियान ने-संगीत सोम
उत्तर प्रदेश मुख्य ख़बर मुजफ्फरनगर मेरठ

आस्ट्रेलिया में महंगी जमीन खरीद रखी हैं भ्रष्ट संजीव बालियान ने-संगीत सोम

121 Views
  • मेरे माता पिता ने ऐसे संस्कार नहीं दिये किसी को शिखंडी बोलूं-सोम
  • बालियान बतायें अपनी ही विधानसभा क्षेत्रों में क्यों हारे-संगीत
  • बालियान के भ्रष्ट कारनामों से मोदी की छवि धूमिल हुई-सोम
  • हापुड़ में नकली खाद बनाने की फैक्ट्री लगा रखी है बालियान ने-सोम
  • आस्ट्रेलिया में महंगी जमीन खरीद रखी हैं बालियान ने-संगीत
  • अपने भ्रष्ट आचरण की वजह  से चुनाव हारे बालियान-सोम
  • बालियान ने संगीत सोम को बोला था शिखंडी,सपा से मिल चुनाव हराया

पश्चिम उत्तर प्रदेश के दो भाजपा दिग्गजों के बीच अब लड़ाई आरपार के हालात तक जा पहुंची है। मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से चुनाव हारे केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने बीते दिवस प्रेस क्रांफेस की और अपनी हार के लिये सरधना के पूर्व विधायक संगीत सोम को न सिर्फ जिम्मेदार बता दिया बल्कि उनके लिये शिखंडी जैसे शब्द भी इस्तेमाल किये। एजुकेशन पर भी सवाल खड़े किये गये। और अंत में संजीव बालियान ने यह शेर पढ़ते हुए चेताया कि मेरा पानी उतरता देख, किनारे पर घर न बना लेना, मैं समुंद्र हूं लौट कर जरूर आऊंगा। आज संजीव सोम ने इस शेर का यह कहते हुए जवाब दिया कि पत्थर पर सिर पटकने कर कुछ नहीं होता, समुंद्र को वापस आना नहीं आना यह उसे पता होगा। जहां तक बात बात मुझे शिखंडी कहने की है तो मुझे मेरे माता पिता ने ऐसे संस्कार नहीं दिये हैं कि मैं किसी के बारे में ऐसे शब्द कहूं।

इसके अलावा संगीत सोम ने भी कहा कि यह संजीव बालियान को देखना चाहिये कि वह अपने गांव व अपने क्षेत्र में ही क्यों हार गये। प्रेस कांफ्रेस के दौरान ही संगीत सोम की तरफ से जो प्रेस नोट जारी किया गया उसमें पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान पर करोड़ों की कमाई करने, आस्ट्रेलिया में जमीन खरीदने,जमीनों की खरीद फरोख्त करने,आपराधिक मामलों में शामिल रहने जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए  बीस प्वाइंट दिये हैं।

सरधना के पूर्व विधायक संगीत सोम ने आज मुजफ्फरनगर सीट से लोकसभा चुनाव भाजपा प्रत्याशी संजीव बालियान को जवाब देने के लिये प्रेस वार्ता की। संगीत सोम ने कहा कि यह उनके संस्कार नहीं हैं कि वह ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करें जो संजीव बालियान ने उनके लिये कहे हैं। लेकिन संजीव बालियान को यह  बताना होगा कि वह अपने ही क्षेत्र में चुनाव क्यों हार गये। वह भी तब जबकि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी वहां मौजूद रहे। इसकी भी बराबर जांच व समीक्षा होनी चाहिये।

इस दौरान जो प्रेस नोट जारी किया गया उसमें संगीत सोम ने संजीव बालियान को टार्गेट पर रखते हुए बीस बिंदु दिये हैं। इनमें कहा गया है कि संजीव बालियान की भ्रष्ट छवि व कारनामों के कारण पीएम नरेंद्र मोदी की छवि खराब हुई है। संजीव ने हजारों करोड़  रुपये की संपत्ति अर्जित की है। डा.बालियान ने श्रीराम पोटास खाद का सैंपल फेल होने के बावजूद इस बिक्री चालू रखी।इतना ही नहीं इफको से अपनी कंपनी का कान्ट्रेक्ट करा कर करोड़ों रुपेय की कमाई की है।

संगीत सोम ने यह आरोप भी लगाया है कि हापुड़ में कई शुगर फैक्ट्रियों से अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर कच्चा माल लेकर नकली खाद बनाने की फैक्ट्री लगा रखी है। इतना ही नहीं डा.संजीव बालियान की गौरव स्वरूप के साथ बेगराजपुर एथनाल प्लांट में साझेदारी है। इस साझेदारी के चलते ही मुजफ्फरनगर नगर पालिका का टिकट गौरव स्वरूप की पत्नी मीनाक्षी स्वरूप को दिलाया गया और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा की। सोम का यह भी आरोप है कि जानसठ,शुक्रताल में 2023 में करीब आठ सौ बीघा जमीन अपने नजदीकियों के नाम से खरीदी है। डा.संजीव बालियान ने डेयरी विभाग के मंत्री पद का लाभ लेते हुए मुजफ्फरनगर के ग्राम बेहड़ी में दूध का चिलर प्लांट लगाया है। इतना ही नहीं बालियान ने आस्ट्रेलिया में जमीन खरीदी है, यह किसी भारतीय द्वारा खरीदी गयी सबसे बड़ी जमीन खरीद है। इस कार्य को बालियान ने अपने मित्र संजीव सहरावत उर्फ संजीव खरडू निवासी हरियाणा के सहयोग से अंजाम दिया है।

प्रेस वार्ता में एक सवाल के जवाब में संगीत सोम ने यह भी कहा कि रालोद से गठबंधन का कोई फायदा भाजपा को नहीं हुआ है। अलबत्ता रालोद को ही दो सीटों का फायदा हो गया। इसके अलावा सरधना में खेल विश्वविद्यालय को अन्यंत्र ले जाने के कारण भी लोगों में आक्रोश पनपा है। बालियान के भ्रष्ट कारनामों को विपक्ष ने प्रमुखता से जनता के  बीच उठाया जो भी हार का एक कारण बना।

संगीत सोम का यह भी कहना है कि बालियान मोदी सरकार में एकमात्र एसे मंत्री रहे हैं जिन पर हत्या सहित तीन बड़े अपराधिक मामले में जुड़ा होने के सीधे आरोप लगे हैं। महिला हत्याकांड, मेरठ कृषि विश्वविद्यालय में वैटरनरी कालेज के डीन प्रो.राजबीर सिंह पर गोलियों से हमले का मुख्य आरोपी कुख्यात मिंटू बालियान,डा. संजीव का नजदीकी है। इनेलो के हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की हत्या में भी डा.बालियान का नाम जोड़ा गया था।

संगीत सोम ने कहा कि खतौली विधानसभा विक्रम सैनी,पुरकाजी से प्रमोद उटवाल, चरथावल से सपना कश्यप और सरधना से स्वयं उनके चुनाव में,खतौली नगर पालिका से प्रत्याशी  उमेश को हराने में भी संजीव बालियान की भूमिका रही, इसकी भी जांच होनी चाहिये।

संगीत सोम ने यह आरोप भी लगाया कि संजीव बालियान ने इस लोकसभा चुनाव में भाजपा के बूथ अध्यक्षों के बस्ते लेकर सपा के सक्रिय कार्यकर्ताओं को अपना एजेंट बनाकर खड़ा किया,इससे पार्टी कार्यकर्ताओं के मन में नाराजगी हुई। इसके अलावा खेड़ा गांव में हुई महापंचायत में आम लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज कराना भी आक्रोश का कारण बना। संजीव बालियान की अहंकार भरी भाषा शैली व जातिवाद के कारण मतदाताओं में उनके खिलाफ रोष था,जिसका बदला उन्होंने चुनाव में उन्हें हराकर ले लिया।

संगीत सोम ने यह भी कहा कि मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाले सरधना विधानसभा क्षेत्र से संजीव बालियान केवल 45 वोट से पीछे रहे जबकि उनके पैतृक गांव वाली बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र में सपा प्रत्याशी से उनकी करारी हार हुई है।

कुल मिलाकर पश्चिम उत्तर प्रदेश के दो दिग्गजों की इस लड़ाई ने पार्टी को परेशानी में डाल दिया है। शिकंडी कहने के बाद अब संगीत सोम द्वारा भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाये जाने के बाद अब यह विवाद और गरमा गया है।

follow us on 👇

फेसबुक –https://www.facebook.com/groups/480505783445020
ट्विटर –https://twitter.com/firstbytetv_
चैनल सब्सक्राइब करें –https://youtube.com/@firstbytetv
वेबसाइट –https://firstbytetv.com/
इंस्टाग्राम – https://www.instagram.com/firstbytetv/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *