टुकड़ों में काटी गयी श्रद्धा के 13 अवशेष महरौली के जंगलों से बरामद
BREAKING दिल्ली-एनसीआर राष्ट्रीय

टुकड़ों में काटी गयी श्रद्धा के 13 अवशेष महरौली के जंगलों से बरामद

46 Views
  • श्रद्धा हत्याकांड से देश दहला
  • आफताब ने श्रद्धा के 35 टुकड़े कर फ्रीज में रखा था
  • श्रद्धा ने कहा था मेरा वाला आफताब ऐसा नहीं है
  • इस रिलेशन के खिलाफ थे श्रद्धा के परिजन
  • 18 दिन में 35 टुकड़ों को लगाया ठिकाने
  • शव वाले कमरे में ही की आफताब ने अन्य युवती से डेटिंग

दिल्ली पुलिस ने आज महरौली के जंगलों में उस जगह खाक छानी जहां दरिंदे आफताब अमीन पूनावाला ने अपनी लिव इन पार्टनर श्रद्धा के शव के टुकड़ों को ठिकाने लगाया था। पुलिस ने करीब 13 अवशेष बरामद गिये हैं, हालांकि फोरेंसिक जांच के बाद ही इस बात की पुष्टि हो पायेगी कि यह अवशेष श्रद्धा के हैं अथवा नहीं। पूछताछ के दौरान एक के बाद एक सनसनी व हैरान करने वाले तथ्य सामने आ रहे हैं। एक यह भी कि जिस वक्त फ्रीज में श्रद्धा के शव के टुकड़े सुरक्षित रखे हुए थे, आफताब अपनी नई दोस्त को लेकर घर आया था जहां दोनों ने रात बिताई थी। बेहद शातिर आफताब ने नई दोस्त को इस बात का जरा भी अहसास नहीं होने दिया कि घर में उससे पहले वाली प्रेमिका के शव के टुकड़े रखे हुए हैं। पुलिस जांच में पता चला है कि आफताब ने उस नई प्रेमिका के आने से पहले टुकड़ों को फ्रीज से निकाल कर बेड में छिपा दिया था।

इतना सब करने के बाद आफताब पूनावाला को इस घटना का जरा भी अफसोस नहीं हैं। पुलिस से उसने हत्याकांड के बारे में पूछने पर सिर्फ यह ही बोला..YES, I KILLED HER..। पुलिस जब उसे आज महरौली के जंगलों में ले गयी तो उसने कपड़े से न सिर्फ चेहरा छिपा रखा था बल्कि हाथों से कुछ इस तरह कपड़ा पकड़े हुए था कि कहीं यह खुल न जाये। मासूम नजर आने वाले आफताब अमीन पूनावाला के चेहरे से एक के बाद एक नये चेहरे उजागर हो रहे हैं। एक चेहरा उसका सोशल मीडिया वाला भी रहा है। यहां उसने अपनी मासूमियत दिखाने में कोई कमी नहीं छोड़ी। महिलाओं की इज्जत को लेकर वह स्वयं को बेहद संवेदनशील साबित करने में लगा रहा। अपना चेहरा सौहार्दपूर्ण व मासूम दिखाने के लिये वह लगातार सोशल मीडिया पर पोस्ट करता रहता था। जिन युवतियों के साथ उसने अपने फोटो शेयर किये हैं, वे अधिकांश हिंदू धर्म से ताल्लुक रखती हैं। वह लड़कियों से दोस्ती डेटिंग एप के जरिये करता है।

इस बीच, श्रद्धा के एक दोस्त लक्ष्मण का दावा है कि उसकी श्रद्धा से अंतिम बातचीत जुलाई में हुई थी, उसके बाद नहीं। लक्ष्मण के मुताबिक आफताब और श्रद्धा में बहुत झगड़े होते थे। एक बार श्रद्धा ने उसे मैसेज कर कहा था कि मुझे आज यहां से लेकर चलो नहीं तो ये मुझे मार डालेगा। उस बार हमने आफताब को कहा भी था कि मामले को पुलिस में लेकर जाएंगे लेकिन श्रद्धा ने तब मना कर दिया था।

follow us on facebook https://www.facebook.com/groups/480505783445020
follow us on twitter https://twitter.com/home
follow us on you tube https://www.youtube.com/channel/UCQAvrXttAEoWXP6-4ATSxDQ
follow us on website https://firstbytetv.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *