यूपी में सभी बड़े नेताओं को उतारा जायेगा चुनाव मैदान में, मौजूदा विधायकों की छवि पर नजर
BREAKING उत्तर प्रदेश

यूपी में सभी बड़े नेताओं को उतारा जायेगा चुनाव मैदान में, मौजूदा विधायकों की छवि पर नजर

Jul 24, 2021
13 Views

सीएम योगी का गोरखपुर से ही लड़ना लगभग तय

केशव प्रसाद कौशांबी की सिराथू से लड़ सकते हैं

दिनेश शर्मा लखनऊ से लड़ सकते हैं चुनाव

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी ठोकेंगे ताल

लखनऊ। कहते हैं कि चुनाव व राजनीति में कयाम के अलग ही मायने व महत्व है। जिस तरह से तैयारियां चल रही हैं उसे देखते हुए यह भी कयास लगाया जा रहा है कि भाजपा आगामी विधानसभा चुनाव में अपने सभी दिग्गजों को चुनाव मैदान में उतारेगी। इसके लिये भाजपा ने बड़ी तैयारी भी कर ली है।

सूत्रों ने दावा किया है कि सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, दिनेश शर्मा समेत कई बड़े नेता विधानसभा का चुनाव लड़ेंगे। सीएम योगी का गोरखपुर की किसी सीट से चुनाव लड़ना लगभग तय है। केशव प्रसाद कौशांबी की सिराथू सीट से चुनाव लड़ सकते हैं जबकि दिनेश शर्मा लखनऊ से चुनाव मैदान में उतर सकते हैं। वहीं डॉ महेंद्र कुंडा सीट चुनाव लड़ सकते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अभी विधान परिषद के सदस्य हैं. वहीं, प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, महेंद्र सिंह जैसे बड़े नेता भी चुनावी मैदान में उतरेंगे. सूत्रों का दावा है कि बीजेपी आलाकमान ने ये निर्देश दिए हैं।  माना जा रहा है इससे पार्टी के कार्यकर्ताओं का हौंसला बढ़ेगा. साथ ही उनके विधानसभा में चुनकर आने से एमएलसी की सीटें खाली होंगी, इसका फायदा उन कार्यकर्ताओं को होगा जिनका फायदा पार्टी संगठन के कामों में लेती है। उन कार्यकर्ताओं को एमएलसी बनाकर भेजा जा सकता है।

इससे पहले बीजेपी ने प्रदेश भर में जिला कार्यसमिति की बैठक का आयोजन किया है। कार्यसमिति में ये साफ किया गया कि सेवा कार्यों से ही उत्तर प्रदेश उत्तम और अग्रणी प्रदेश बना है। लखनऊ में हुई बैठक में संगठन महामंत्री सुनील बंसल ने कहा कि विशेष अभियान चलाकर और घर-घर संपर्क करते हुए पार्टी की योजनाओं व विचारधारा से अवगत कराते हुए लोगों को ज्यादा से ज्यादा जोड़ना है। बंसल ने यह भी कहा कि जनसंघ की शुरुआत कभी पांच लोगों से हुई थी जो आज विश्व की सबसे बड़ी इकाई बन गई है।

इस बीच, सूत्रों का यह भी दावा है कि कई मौजूदा विधायकों के चेहरे भी बदले जा सकते हैं। मौजूदा विधायकों के काम काज व कार्यप्रणाली पर भी संगठन की बराबर नजर है। यह भी देखा जा रहा है कि विधायक जनता के कितना करीब हैं, या सिर्फ अपने काम धंधे में ही व्यस्त हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *