मुज़फ्फरनगर में बिजली अफसरों ने 5 लाख कीमत लगाकर कर दी गरीब की हत्या ।
मुजफ्फरनगर

मुज़फ्फरनगर में बिजली अफसरों ने 5 लाख कीमत लगाकर कर दी गरीब की हत्या ।

Nov 7, 2020
18 Views

मुज़फ्फरनगर में बिजली विभाग के अफसरों ने आज फिर एक गरीब की हत्या कर दी लेकिन पहले की ही तरह इस बार भी उसकी मौत की 5 लाख रुपये कीमत लगाकर मामला रफा दफा कर दिया गया। जनपद में बिजली अफसरों की लापरवाही रोज किसी न किसी गरीब की जान ले रही है, आज फिर एक संविदा कर्मी इन अफसरों की लापरवाही के चलते अपनी जान से हाथ धो बैठा, इन्होने फिर पांच लाख के मुआवजे का चेक देकर गरीब की मौत की कीमत लगाकर मामला शांत कर दिया ।जनपद समेत प्रदेश में पिछले कुछ माह में इस तरह की कई घटनाएं सामने आ चुकी है कि गरीब संविदा कर्मी बिजली घर से लाइन बंद कराकर लाइन ठीक करने जाता है, लेकिन वो लाइन पर चढ़ा होता है कि कोई बिजली अफसर आकर लाइन चालू कर देता है जिससे उसकी मौत हो जाती है, शामली रोड समेत ऐसी कई घटना हाल के दिनों में सामने आ चुकी है लेकिन परिवार को 5 लाख का मुआवजा देकर मामला शांत कर दिया जाता है, बल्कि होना तो यह चाहिए कि उस अफसर के खिलाफ भी हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए जिसने बिना ये जाने कि किस कारण शटडाउन किया गया है, बिजली चालू कर देता है और कोई न कोई गरीब इस वजह से मौत का शिकार हो जाता है ।ऐसा ही एक मामला आज फिर कूकड़ा बिजली घर पर देखने को मिला, जब एक संविदा कर्मचारी करण पाल सिंह निवासी जट नगला की करंट लगने से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि कर्मचारी करण पाल सिंह बिजली घर से शटडाउन लेकर लाइन को ठीक कर रहा था, तभी अचानक लाइन चालू कर दी गयी जिससे लाइन में करंट आ जाने से संविदा कर्मचारी करण पाल की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई, गुस्साए ग्रामीणों और परिजनों ने मुआवजे की मांग को लेकर कूकड़ा बिजली घर में शव को रखकर बिजली विभाग के खिलाफ हंगामा शुरू कर दिया, सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट अभिषेक सिंह ने ग्रामीणों और पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता का आश्वासन देकर शांत किया और मामले की जांच के आदेश दिए। बाद में अधिशासी अभियंता टाउनहाल ने मृतक के पुत्र शुभम व पत्नी बबीता को 5 लाख की सहायता राशि का चैक देकर मामला रफा दफा कर दिया बल्कि होना तो यह चाहिए कि उस व्यक्ति के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए जिसने बिना ये पता करे कि शट डाउन किसने ले रखा है, लाइन चालू कर दी थी, पर ये होगा नहीं क्योंकि लाइन पर चढ़कर मरने वाला कोई गरीब था जिसकी मौत की कोई चिंता करता ही कहाँ है  ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *