BREAKING राष्ट्रीय

डब्ल्यूएचओ का दावा: भारत में लंबे समय तक रह सकता है कोरोना, संक्रमण के साथ रहना सीखना होगा

Aug 25, 2021
16 Views

 

तीसरी लहर कब आयेगी कहना मुमकिन नहीं

सत्तर फीसदी को वैक्सीन लग गई तो देश सामान्य हालात में होगा

पैनडेमिक में बड़ी जनसंख्या होती है प्रभावित 

एंडेमिक यानी वायरस के साथ जीना सीख लेती है आबादी

 

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर आयेगी अथवा नहीं इस कयास के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत के लिए बेहद अहम बात कही है। मुख्य वैज्ञानिक डॉ. सौम्या विश्वनाथन ने कहा कि भारत में कोरोना वायरस की स्थिति एंडेमिक स्टेज में जा सकती है। यानी एंडेमिक स्टेज उस वक्त होती है जब आबादी वायरस के साथ जीना सीख लेती है। मतलब साफ है कि वायरस के फैलाव की प्रकृति अब स्थानीय हो सकती है जबकि पैनडेमिक में जनसंख्या का बड़ा हिस्सा वायरस की चपेट में आता है।

उनका कहना है कि भारत का आकार, आबादी की विविधता और देश के अलग-अलग हिस्सों में इम्यूनिटी की स्थिति को देखते हुए ये ‘बिल्कुल संभव’ है कि स्थिति इसी तरह विभिन्न जगहों में उतार और चढ़ाव के साथ जारी रहे। सौम्या ने कहा कि हम ऐसी स्थिति में जा सकते हैं जहां वायरस के फैलने की दर कम या मध्यम हो। फिलहाल वायरस के तीजे से फैलने की आशंका नहीं दिखाई दे रही है, जैसा कुछ माह पहले देखा था। उन्होंने उम्मीद जताई कि 2022 के अंत तक भारत 70 फीसद लोगों का टीकाकरण करा पाने में कामयाब होगा। अगर 70 फीसद आबादी को कोविड-19 की वैक्सीन लग गई, तो भारत सामान्य अवस्था की तरफ लौट जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *