अलमारी से वाॅटर ड्रम तक 55 साल की महिला के टुकड़े, हिला देगी कातिल बेटी की कहानी

0

मुंबई में एक लड़की ने मां की हत्या करने के बाद लाश के टुकड़े घर की अलमारी से लेकर पानी के ड्रम सहित अलग अलग जगह पर छुपा दिये। हैरत की बात ये है वह इन्ही टुकड़ों के साथ करीब तीन महीने रहती रही और किसी को इस बात की ज़रा भनक नहीं लगी।

वीणा के भाई ने दर्ज कराई थी गुमशुदगी की रिर्पोट

दरअसल, मंगलवार की रात मुंबई के कालाचौकी पुलिस स्टेशन में एक शख्स अपनी बहन वीणा की गुमशुदगी की रिर्पोट दर्ज करने पहुंचा। उसने पुलिस को बताया कि उसकी 55 वर्षीय बहन वीणा जीजा की मौत के बाद अपनी 23 साल की बेटी रिंपल के साथ  कालाचौकी थाना इलाके के ही पेरू कंपाउंड की इब्राहिम कासम बिल्डिंग में रहती है। वह हर महीने उन्हे कुछ पैसे भेजता है। लेकिन पिछले तीन महीने से उनका कोई अता पता नहीं है। जबकि उससे पहले वह लगातार बहन के संपर्क में थे। उनसे बात होती रहती थी।
शिकायत में बताया कि तीन माह का अरसा बीत चुका न तो उनसे काॅल पर बात हो पा रही है और न ही घर जाने पर वो मिलती हैं। जितनी मर्तबा भी परिवार के लोग उनसे मिलने उनके घर गये उतनी बार ही बेटी रिंपल ने अलग अलग वजह बता कर परिवार के लोगों को लौटा दिया। कभी कहा जाता है कि वो घर से बाहर गई हैं, तो कभी सो रही हैं कहकर दरवाजे़ से ही वापस कर दिया जाता है।

ये शिकायत वाकई उलझाने वाली थी। जिसपर पुलिस ने फौरन एक्शन लिया और महिला के घर पहुंच गई। बेटी रिंपल ने दरवाजे पर ही पुलिस को रोकने की कोशिश की लेकिन वह नहीं मानी। भीतर पुलिस को बदबू महसूस हुई। इसके बाद तलाशी ली गई तो शव के टुकड़े मिलते चले गये। पुलिस को समझते देऱ नहीं लगी कि ये टुकड़े वीणा के हैं। घर की अलमारी में इंसान का धड़ और सर मिला।

पानी के ड्रम में मिले हाथ-पैर के टुकड़े

घर में मिले इन्सानी शरीर के टुकड़ों के बाद तो यह साफ हो गया था कि ये टुकड़े किसी और के नहीं बल्कि तीन महीने से गुमशुदा चल रही वीणा के शरीर के हैं। अब सवाल पैदा होता है बाकि के हिस्से कहां हैं? तलाशी का सिलसिला एैसे ही जारी रहा फिर पुलिस की नज़र एक स्टील के ड्रम पर पड़ी जिसकी तलाशी ली गई तो हाथ पांव समीत लाश के बाकि हिस्से उसमे पाये गये।

आखिर रिंपल ने क्यों किया मां का कत्ल ?

पुलिस ने वीणा के भाई समेत तमाम रिश्तेदारों को लाश के टुकड़े दिखाये। उन्होने टुकड़ो को वीणा जैन की लाश के तौर पर पहचान लिया। इस सब के बाद शक के दायरे में सिर्फ रिंपल थी जिसको हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ शुरू की। रिंपल ने पुलिस के तमाम सवालों को गोलमोल घुमा दिया। कभी कहती मुझे नहीं पता मां खुद मरी है, कभी बोलती मुझे नहीं पता मां की लाश घर की अलमारी में किसने रखी । पुलिस का कहना है कि पाॅस्टमार्टम की रिपोर्ट आने पर ही मौत के कारणो का साफ तौर पर पता लग पायेगा। उसी के बाद रिंपल पर आगे की कार्यवाही की जायेगी।

टुकड़ो में किये गये इस कत्ल की कहानी को सुनने के बाद बेशक सभी को राजधानी दिल्ली में हुए श्रद्धा के कत्ल का खौफनाक मंजर याद आ गया होगा। एक बार फिर क़त्ल के इस हैवानी तरीके को 55 साल की वीणा जैन पर दोहराया गया। लेकिन इस बार कातिल आफताब की तरह कोई गैर नहीं था बल्कि वीणा की कोक से जन्मी उसकी खुद की बेटी रिंपल थी। फ्रिज और बक्से को पीछे छोड़ते हुए रिंपल ने अलमारी को लाश रखने के लिये चुना। मंगलवार की रात थी जब पुलिस ने लालबाग के एक मकान की अलमारी और घर में रखे पानी के ड्रम से लाश के टुकड़ो को बाहर निकाला।

https://www.facebook.com/groups/480505783445020
  https://twitter.com/home
 https://www.youtube.com/channel/UCQAvrXttAEoWXP6-4ATSxDQ
 https://firstbytetv.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: